ग्राहकों को संतुष्ट करने और व्यापार बढ़ाने के 5 सर्वश्रेष्ठ तरीके

Last updated 3 Mar 2021 . 1 min read



how to deal customer in hindi, customer ko product kaise beche, grahak ko kaise santust kare, customer dealing tips in hindi, customer ko kaise khush kare how to deal customer in hindi, customer ko product kaise beche, grahak ko kaise santust kare, customer dealing tips in hindi, customer ko kaise khush kare

To read this article in English, Click Here!!

अधिक प्रोडक्ट्स और सर्विस को बेचने की कुंजी यह है कि ऐसे ग्राहक बनाइए जो आपको जानते हो, पसंद करते हो और आप पर विश्वास करते (How To Convince Customer In Hindi) हो। ग्राहक की संतुष्टि प्राप्त करना सीखें और ऐसे खुशहाल ग्राहक (Customer Ko Product Kaise Beche) बनाए जो आपको इतना पसंद और विश्वास करते हो कि हर बार आप को ही अपना सेलर चुने। 

रिलेशनशिप मार्केटिंग के विज्ञान का लक्ष्य अपने ग्राहक के साथ मजबूत एवं टिकाऊ रिश्ते बनाना है और नए ग्राहक ढूंढने की जगह मौजूदा ग्राहकों से अपने रिश्ते बेहतर बनाना है। रिलेशनशिप मार्केटिंग वहां लागू होती है जहाँ ग्राहक के पास एक ही प्रोडक्ट और सर्विस के कई सारे ऑप्शन होते हैं और ग्राहक अपने निर्णय लेने का हकदार होता है। 

SHECO Partner होने के तौर पर, जिस एक चुनौती से आपका सामना होगा वह यह है कि यहां कई सारे लोग एक ही प्रोडक्ट को एक ही इंसान को बेच रहे हैं। फिर आप कैसे खुद को इन सबसे अलग बनाएंगे, कैसे अपने ग्राहक को संतुष्ट करेंगे ताकि वह दूसरे सेलर के ऊपर आपको चुने।

ग्राहक को खुश करने के 5 तरीके (Customer Dealing Tips In Hindi)

जब ग्राहक के सामने कई सारे सेलर के विकल्प होते हैं तो वह उस इंसान को चुनता है जिसको वह जानता है, पसंद करता है और उस पर विश्वास करता  है या फिर किसी ऐसे व्यक्ति को जिसके साथ उसका कोई संबंध (How To Deal Customer In Hindi) है। नीचे 5सुझाव दिए गए है कि आप अपने ग्राहक को कैसे संतुष्ट (Grahak Ko Kaise Santust Kare) कर सकते है:

#1. पहले मदद करो, फिर बेचो

ग्राहक के साथ अपना रिश्ता अच्छा बनाने का सबसे बेहतरीन तरीका यह है कि आप सबसे पहले ग्राहक की आवश्यकताओं को समझे और फिर उन्हें कैसे पूरा कर सकते हैं, यह सोचे। कई सेलर नए कस्टमर के साथ सीधे प्रोडक्ट को बेचने की बात करने की गलती करते हैं।

अगर आप सही मौके पर अपने ग्राहक की आवश्यकताओं को नहीं समझेंगे और आप यह नहीं समझ पाए कि कैसे अलग-अलग हालातों में उनकी आवश्यकता बदलती है तो आप असफल हो सकते हैं। अपने ग्राहक को संतुष्ट करने का सबसे बेहतरीन तरीका है कि सबसे पहले आप अपने ग्राहक को जाने।

ग्राहक से बात या चैट करें, उनके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें ताकि आप अपने ग्राहक को उनके आवश्यकता की चीज़े ऑफर कर सके बजाए इसके कि आप उन्हे उन प्रोडक्ट के लिए मना रहे है जो आप उन्हें बेचना चाहते हैं।

#2. विश्वास और रिश्ते मजबूत करें

अगर आपका अपने ग्राहक के साथ अच्छा संबंध है तो वह अपनी जरूरतों को समझने के लिए और उस आधार पर अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए आपसे बेस्ट प्रोडक्ट और सर्विस की उम्मीद करते है और इसके लिए आप पर भरोसा भी करते है। कभी भी अपने मन मुताबिक कमीशन पर अपने ग्राहक को प्रोडक्ट सेल करने की कोशिश ना करें, इस कारण से आप निश्चित तौर पर अपने ग्राहक के साथ अपने रिश्ते ख़राब कर लेंगे।

अगर आप अपने ग्राहक के विश्वास को हार जाते हैं तो लाज़मी है कि वह आपसे दोबारा ना खरीदें। ग्राहकों को खुश रखने की कुंजी यही है कि आप विश्वास के आधार पर अपने रिश्तो को और बेहतर करें।

#3. वादे के अधीन और अधिक वितरण

आप जितना दे सकते हैं उससे अधिक का कभी वादा न करें। यदि आप प्रोडक्ट या सर्विस को गलत तरीके से पेश करते हैं तो आपके पास सिर्फ खराब रिव्यू और ग्राहकों की शिकायतें ही रह जायेंगी और आप अपनी कम्युनिटी और कस्टमर का विश्वास खो देंगे।

हमेशा सुनिश्चित करें कि आप जो प्रोडक्ट या सर्विस बेच रहे है उसकी सुविधाओं, लाभों और सीमाओं को जानते हैं। कभी भी फायदे से समझौता ना करें।  हमेशा कम का वादा करें ताकि जब असल परिणाम आए तो उसे देखकर आपके ग्राहक खुश हो जाए।

#4. फ़ॉलोअप

कई सेलर का अपने ग्राहकों के प्रति व्यवहार ऐसा होता है कि जैसे वह सिर्फ एक रात की बात हो। यदि आप केवल सेल के बारे में चिंतित हैं और अपने ग्राहक की संतुष्टि के बारे में परवाह नहीं करते हैं तो आप आप अपने कस्टमर को दोबारा खुद से आर्डर खरीदने के लिए आकर्षित नहीं कर पाएंगे।

इसलिए सेल के बाद भी अपने ग्राहक को फॉलोअप करिए और उनसे बातचीत करते रहिए। अगर ग्राहक खुश नहीं है तो आप उनका फीडबैक लीजिए ताकि आप आगे मैन्युफैक्चरर को प्रोडक्ट की कमियों के बारे में बता सके।

अगर एक बार आप ग्राहक का विश्वास पा लेते हैं तो उनका दूसरे सेलर या दूसरे कंपनी के पास जाने की संभावनाएं कम हो जाती है। वह आपसे थोक में सामान खरीद सकते हैं और अगर मार्केट में कोई प्रोडक्ट सस्ते दाम पर बिक रहा है और वही प्रोडक्ट आपके पास भी है जिसका दाम पहले रीसेलर से अधिक है तो इसके बावजूद भी आपका कस्टमर अपने रिश्ते की वजह से आप से ही वह प्रोडक्ट खरीद सकता है।

#5. संपर्क में रहे

रिलेशनशिप मार्केटिंग सिर्फ रिश्ते बनाना और ग्राहकों को अपने प्रोडक्ट और सर्विस के लिए आकर्षित करना नहीं है बल्कि साथ ही ग्राहकों के साथ सकारात्मक अनुभव बनाना और ग्राहकों को बनाए रखने के लिए कई तरीकों का उपयोग करना है भी है।

आपको यह पता होना चाहिए कि आपका ग्राहक क्या चाहता है और भविष्य में उसकी और क्या आवश्यकता हो सकती है। वह अगर आपसे अभी नहीं खरीद रहे हैं फिर भी आप उनसे संपर्क बनाए रखें और अपने संबंध और बेहतर करने का प्रयास करते रहिए। अगर वह आपकी सर्विस से संतुष्ट हैं तो आपको एक अच्छा कस्टमर फीडबैक देंगे और बातचीत में बाकी लोगों से भी आप की सिफारिश करेंगे।

एक शोध के अनुसार, एक पुराने ग्राहक को बनाए रखने की लागत एक नए ग्राहक को प्राप्त करने की लागत का केवल 10% है और सबसे अधिक लागत तब होती है जब आप नए ग्राहकों को पाने की कोशिश कर रहे हो।

जैसे अपने परिवार और दोस्तों के साथ संबंध बनाने में समय और प्रयास लगता है वैसे ही ग्राहकों के साथ  रिलेशनशिप मार्केटिंग समय, प्रयास और ग्राहकों को खुश रखने की वास्तविक इच्छा की मांग करता है।

इन टिप्स का प्रयोग करिए कि कैसे आप अपने ग्राहक को संतुष्ट कर सकते हैं और कैसे एक संतुष्ट और खुशहाल ग्राहक बनाए जो अपने ऑर्डर देने के लिए हर बार आपको चुने।

SHECO

इसे भी पढ़ें:


16129451331612945133
तेजस्विता उपाध्याय


Share the Article :