1567076597anu-sharma
Anu Sharma
11 Sep 2019 . 75 min read

यातायात के नए नियमों के बारे में जानकारी


Share the Article :

traffic rules in hindi traffic rules in hindi

भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में यातायात के कुछ नियम बनाए गए हैं ताकि लोग इनका पालन करें। अगर सभी लोग यातायात के नियमों का पालन करते हैं तो न केवल यात्रा सुगम हो जाती है बल्कि दुर्घटनाओं में भी कमी आती है लेकिन, इसके बाद भी लोग बेधड़क हो कर इन नियमों को तोड़ते हैं।

एक सर्वे के मुताबिक भारत में हर साल जितनी भी सड़क दुर्घटनाएं होती हैं। उनमें से सबसे अधिक यातायात के नियमों को तोड़ने के कारण होती हैं। यही नहीं, इन दुर्घटनाओं में लगातार बढ़ोतरी ही होती आ रही है। हालांकि, इन दुर्घटनाओं में बढ़ोतरी का एक कारण बढ़ता यातायात भी है। एक अजीब बात यह भी है कि हमारे देश में कई लोगों को यातायात के नियमों की सही से जानकारी ही नहीं है। हाल ही में यातायात के नए नियम बनाए गए हैं। आइये जाने इनके बारे में विस्तार से।

क्या है यातायात के नए नियम

हाल ही में अर्थात इसी महीने से पुराने यातायात के नियमों में संशोधन करके नए वाहन एक्ट को लागू किया गया है। यातायात के नियमों को तोड़ने वालों के लिए यह बहुत बुरी खबर है क्योंकि सड़क सुरक्षा विभाग ने नए वाहन एक्ट में जुर्माना पांच से लेकर दस गुना तक बढ़ा दिया है। अगर आपको इन नियमों की जानकारी नहीं है तो आज ही इनके बारे में जान लें और नियमों का पालन करें। नहीं तो, आपको भारी नुकसान हो सकता है। यातायात के नए नियमों के बारे में जानकारी इस प्रकार है।

#1. सीट बेल्ट न पहनना

सीट बेल्ट न पहनना लोग अपनी शान समझते हैं। बड़े शहरों में तो लोग फिर भी इसे पहनते हैं लेकिन छोटे शहरों में लोग इसका पालन बहुत कम करते हैं। सीट बेल्ट पहनना बहुत आवश्यक है। एक दम ब्रेक लगने या दुर्घटना होने की सूरत में सीट बेल्ट पहनने से आपका बचाव हो सकता है। सीट बेल्ट न पहनने का पहले जुर्माना 300 रुपये था लेकिन मोटर वाहन संशोधन अधिनियम 2019 के अनुसार अब सीट बेल्ट न पहनने पर आपको 1000 रुपये का जुर्माना देना पड़ेगा।

#2. अधिक सवारी

अब वो दिन गए जब आप अपनी बाइक पर दो से अधिक लोगों को ले जाते थे। अब ऐसा करना आपकी जेब पर भरी पड़ सकता है क्योंकि नए नियमों के अनुसार अब अगर आपके दोपहिया वाहन पर दो से अधिक लोग बैठे हैं तो आपको 2000 रुपये का जुर्माना देना पड़ेगा जो पहले केवल 100 रुपये था। इसके साथ ही 3 साल के लिए आपका लाइसेंस निलंबित हो सकता हैं।

#3. हेलमेट न पहनना

आमतौर पर लोग दोपहिया वाहनों पर हेलमेट नहीं लगाते खासतौर पर महिलाएं। लोग अगर हेलमेट पहनते भी हैं तो केवल चालान से बचने के लिए। लेकिन, हेलमेट पहनना उन्हें किसी भी दुर्घटना होने पर सुरक्षित रख सकता है। अब अगर आप हेलमेट नहीं पहन कर अपने वाहन को चलाएँगे तो आपको 200 की बजाय 1000 रुपये का चालान भरना होगा। यही नहीं, आपके लाइसेंस को भी तीन महीने तक निलंबित किया जा सकता है।

#4. इमरजेंसी वाहन को रास्ता न देना

इमरजेंसी वाहन जैसे एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड आदि को रास्ता देना आवश्यक है लेकिन पहले इन वाहनों को रास्ता न देने पर किसी तरह के जुर्माने का प्रावधान नहीं था। अब अगर आप इन्हें रास्ता नहीं देते हैं तो आपको 10 हजार रुपये का जुर्माना होगा।

#5. बिना ड्राइविंग लाइसेंस

अगर आप बिना ड्राइविंग लाइसेंस के गाड़ी चलते हैं तो अब आपको 5 हजार रुपये का चालान भरना पड़ेगा जो पहले केवल 500 रुपये था। आपका लाइसेंस किन्हीं कारणों से कैंसिल हो गया है और इसके बाद भी आपको ड्राइविंग करते हुए पकड़ा जाता है तो आपको 5 हजार रुपये का जुर्माना होगा। इससे पहले यह राशि केवल 500 रुपये थी।

#6. ओवर स्पीड

अगर आप स्पीड के शौकीन हैं तो अब सोच समझ कर ओवर स्पीड में अपनी गाडी चलाएं क्योंकि ऐसा करने पर होने वाला जुर्माना भी बढ़ गया है। अब यह राशि 1000 से 2000 रुपये है जो पहले केवल 400 रुपये थी। यही नहीं, आपकी ड्राइविंग में कोई गड़बड़ी पाई गयी या आपको खतरनाक ड्राइविंग करते हुए पाया गया तो आपको 1000 की जगह 5000 रुपये का जुर्माना होगा।

#7. ड्रिंक एंड ड्राइव

ड्रिंक एंड ड्राइव यानी शराब पीकर गाड़ी चलाना भी आपको महंगा पड़ सकता है। इसमें आपको 10 हजार रुपये का जुर्माना होगा जो पहले केवल 2000 था।

#8. मोबाइल का प्रयोग

यदि आप वाहन चलाते हुए मोबाइल का प्रयोग कर रहे हैं तो आपको 5000 रुपये का चालान भरना होगा। पहले यह केवल एक हज़ार रुपये था।

#9. ओवरलोडिंग

ओवरलोडिंग की सूरत में आपको 20000 रुपये जुर्माना और तय सीमा से अधिक वजन पर 2000 रुपये प्रति टन की दर से फाइन भरना पड़ेगा। पहले 2000 रुपये जुर्माना और अधिक वजन पर 1000 रुपये प्रति टन का जुर्माना लगता था। अगर आपका वहां बिना परमिट के सड़क पर चल रहा है तो आपको 10 हजार रुपये का जुर्माना होगा।

#10. इंश्योरेंस

अगर आपने अपनी गाडी का इंश्योरेंस नहीं कराया है तो आज ही करा लें। क्योंकि, अब इंश्योरेंस पेपर न होने पर आपको 2000 रुपये देने होंगे। यह फाइन पहले एक हज़ार था।

#11. नाबालिग के लिए नियम

यह एक ऐसा नियम बनाया गया है जिस पर पहले कोई कार्यवाही नहीं होती थी लेकिन पिछले कुछ समय में नाबालिगों द्वारा किये गए जुर्मों में बढ़ोतरी हुई है। नए कानून के मुताबिक अगर वाहन चलाने वाला नाबालिग है तो उसके साथ-साथ उसके माता-पिता को भी नियमों का उल्लंघन करने का दोषी माना जाएगा। इस पर 25 हजार रुपये का जुर्माना और 3 साल की जेल की सजा का प्रावधान है। यह सजा उसके अभिभावक को ही हो सकती है। नाबालिग पर जुवेलाइन एक्ट के तहत केस चलेगा। उस वाहन का रजिस्ट्रेशन भी 1 वर्ष के लिए रद्द हो जायेगा। नए कानून के तहत नाबालिग को 25 साल के होने तक ड्राइविंग लाइसेंस भी नहीं दिया जाएगा। 

#12. गलत पार्किंग

अगर आप अपने वाहन को गलत जगह खड़ा करते हैं या ‘नो पार्किंग’ में खड़ा करते हैं तो इसका जुर्माना आपको 500 रुपये देना होगा जो पहले 100 रुपये था।

#13. वाहन चलाते हुए सेल्फी लेना

अब सेल्फी के लिए आपका प्यार भी आपको महंगा पड़ सकता है। इस गलती के लिए आपको दो हजार जुर्माना हो सकता है।

कैसे भर सकते हैं आप चालान

  • सर्वोच्च न्यायालय के एक एडवोकेट के अनुसार सेंट्रल मोटर व्हीकल रूल्स के नियम 139 में प्रावधान किया गया है जिसके अनुसार वाहन चलाने वाले को अपने डॉक्यूमेंट को पेश करने के लिए 15 दिन का समय दिया जाएगा। इसका मतलब यह है कि अगर आपके पास रजिस्ट्रेशन सर्टिफ़िकेट, इंश्योरेंस सर्टिफ़िकेट, पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफ़िकेट, ड्राइविंग लाइसेंस और परमिट सर्टिफ़िकेट नहीं हैं, तो यह  कोई अपराध नहीं है। 
  • अगर आप इन दस्तावेज़ों के होने या दिखाने का दावा करते हैं तो ट्रैफिक पुलिस या आरटीओ अधिकारी वाहन का चालान नहीं काटेंगे। लेकिन 15 दिन के अंदर आपको यह डॉक्यूमेंट ट्रैफिक पुलिस या अधिकारी को दिखाने होंगे।
  • अगर इसके बाद भी आपका चालान काटा जाता है तो चालक कोर्ट में जाकर इसको खारिज करा सकता है। कोर्ट में सुनवाई के बाद अगर कोर्ट को लगता है कि आपके पास सभी जरूरी दस्तावेज़ हैं लेकिन उन्हें दिखाने का आपको पर्याप्त समय नहीं दिया गया है, तो कोर्ट आपके इस जुर्माने को माफ कर सकता है।

यह यातायात के नियम पूरे देश में लागू किये गए हैं लेकिन पांच राज्य मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, पंजाब और पश्चिम बंगाल में यह यातायात अधिनियम अभी लागू नहीं हुए हैं। यह पांचों राज्य इस अधिनियम का विरोध कर रहे हैं। राजस्थान की सरकार के अनुसार इस अधिनियम के बाद भ्रष्टाचार बढ़ेगा जबकि गुजरात में जुर्माने की राशि को कम करके इसे लागू किया गया है।

अगर आपके प्रदेश में इन नियमों को लागू नहीं भी किया गया है तब भी यातायात के नियमों का पूरी तरह से पालन करें। याद रखें, इन नियमों को केवल जनता की बेहतरी के लिए बनाया गया है। इसलिए जनता का कर्तव्य है इनका पूरी तरह से पालन करना।

इसे भी पढ़ें:


15681918141568191814
Anu Sharma
अनु शर्मा पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं लेकिन ब्लोग्स लिखने में उनकी खास रूचि है। हर पल कुछ सीखने की चाहत के साथ वो कई वेबसाइट्स के साथ काम कर चुकी हैं। फैशन, सेहत और आध्यात्मिकता जैसे विषय उनकी विशेषता है। हिमाचल प्रदेश से सम्बन्ध रखने के कारण प्रकृति उन्हें अधिक आकर्षित करती है।

Explore more on SHEROES

Share the Article :

Responses