पोस्ट ग्रेजुएशन करने का हैं मन? जाने इसके लिए क्या करे

Published on 7 Dec 2021 . 1 min read



Post Graduation Kaise Kare, Graduation Ke Bad Kya Karen, Post Graduation Kya Hota Hai, What To Do After Graduation In India In Hindi, Graduation And Post Graduation In Hindi, Post Graduation Fees Post Graduation Kaise Kare, Graduation Ke Bad Kya Karen, Post Graduation Kya Hota Hai, What To Do After Graduation In India In Hindi, Graduation And Post Graduation In Hindi, Post Graduation Fees

क्या आपने अपनी ग्रेजुएशन खत्म कर ली हैं या फिर यह ख़त्म होने वाली (Post Graduation Kaise Kare) हैं? क्या अब आप आगे का प्लान कर रही हैं और सोच रही हैं कि पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए क्या किया जाये? यदि आप पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाहती हैं लेकिन इसको लेकर कंफ्यूज हैं व और ज्यादा जानना चाहती (Graduation Ke Bad Kya Karen) हैं तो इस लेख के माध्यम से आपको वह सब जानने को मिलेगा जो आप जानना चाहती हैं।

पोस्ट ग्रेजुएशन करना या नही करना आपके लिए एक बड़ा निर्णय हो सकता (Post Graduation Kya Hota Hai) हैं क्योंकि यह आपके करियर को बनाने और आगे बढ़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। आइए जानते हैं, इसके लिए आपको किन-किन चीजों का मुख्य रूप से ध्यान रखने की आवश्यकता हैं।

पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए क्या करे (What To Do After Graduation In India In Hindi)

#1. पहचाने ग्रेजुएशन व पोस्ट ग्रेजुएशन में अंतर (Graduation And Post Graduation In Hindi)

ग्रेजुएशन आपने चाहे किसी में भी की हो लेकिन आपका यह जानना आवश्यक हैं कि यदि आप पोस्ट ग्रेजुएशन करने का सोच रहे हैं तो आपको आगे उसी से पहचाना जाएगा। पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री आपके करियर के लिए बहुत महत्ता रखने वाली हैं।

इसलिए पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए चुनाव सोच समझ कर ही करे क्योंकि इसके बाद आपकी ग्रेजुएशन की डिग्री इतनी महत्ता नही रखेगी और आपको करियर के विकल्प पोस्ट ग्रेजुएशन के आधार पर ही मिलेंगे और आपको उसी अनुसार काम करना होगा।

#2. पोस्ट ग्रेजुएशन का चुनाव (Post Graduation Ka Chunav)

यह जरुरी नही कि पोस्ट ग्रेजुएशन हमेशा उसी फील्ड में की जाए जिसमे आपने ग्रेजुएशन की हो। बहुत से लोग अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री ग्रेजुएशन के विषय से अलग करते हैं। जैसे कि कई लोग बीटेक करने के बाद एमटेक नही बल्कि एमबीए करना पसंद करते हैं।

इसलिए आप अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री का चुनाव ग्रेजुएशन के आधार पर नही बल्कि अपनी चॉइस के आधार पर करेंगे तो ज्यादा बेहतर रहेगा।

#3. पोस्ट ग्रेजुएशन की समय सीमा (Post Graduation Time Period)

इसके बारे में भी जानना बहुत आवश्यक हैं क्योंकि किसी पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री 2 साल की होती हैं तो किसी की 3 साल के लिए। इस पड़ाव पर आपका समय बहुत कीमती होता हैं और आपको उसी के हिसाब से आगे की प्लानिंग करनी चाहिए।

आपको अपने परिवार की स्थिति, समय सीमा, आगे की प्लानिंग इत्यादि सभी चीजों को ध्यान में रखकर पोस्ट ग्रेजुएशन का सोचना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए।

#4. पोस्ट ग्रेजुएशन की फीस (Post Graduation Fees In India)

यह भी एक महत्वपूर्ण विषय हैं क्योंकि इसमें पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री और कॉलेज का बहुत फर्क पड़ता हैं। किसी पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री करने में बस 20 से 30 हज़ार लगते हैं तो किसी-किसी में 3 से 4 लाख भी। इसमें कॉलेज और शहर का भी बहुत फर्क पड़ता हैं।

इसलिए आप अपने परिवार की आर्थिक स्थिति, अपनी बचत इत्यादि कई चीजों को ध्यम में रखकर इसका निर्णय ले क्योंकि यह आपके आत्म-विश्वास को बनाए रखने और आगे बढ़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

#5. ऑनलाइन साइकोमेट्रिक टेस्ट दे (Free Online Psychometric Test)

आप चाहे तो ऑनलाइन साइकोमेट्रिक टेस्ट दे सकते हैं और अपनी योग्यता के बारे में पहचान सकते हैं। इससे आपको अपनी योग्यता, कैपेसिटी, विषय में रुचि, इत्यादि कई पहलुओं के बारे में जानने को मिलेगा जो आपके निर्णय को लेने में बहुत सहायता करेगा।

इसके लिए आपको कहीं बाहर जाने या अलग से कुछ ढूंढने की भी आवश्यकता नही हैं क्योंकि विश्वप्रसिद्ध कंपनी ग्लो एंड लवली कंपनी के द्वारा महिलाओं के लिए ऑनलाइन साइकोमेट्रिक टेस्ट उपलब्ध करवाए जाते हैं। साथ ही आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इसके लिए आपसे कोई फीस या मूल्य भी नही लिया जाएगा। यह आपके लिए एक दम फ्री हैं।

इसलिए देर मत कीजिए और आज ही इस लिंक पर क्लिक कर देखिये यह टेस्ट और आज ही दे दीजिए ताकि आपको अपना करियर बनाने में आसानी हो।

#6. करियर काउंसलिंग टेस्ट भी दे (Free Online Career Counselling Test)

अब जब ग्लो एंड लवली कंपनी की बात हुई हैं तो क्यों ना आपकी और ज्यादा मदद कर दी जाए। जब हम इस वेबसाइट पर महिलाओं को उपलब्ध करवाए जा रहे ऑनलाइन फ्री साइकोमेट्रिक टेस्ट को देख रहे थे तब हमारी नज़र करियर काउंसलिंग के अन्य टेस्ट पर भी पड़ी और हमारे आश्चर्य की तब सीमा नही रही जब हमने पाया कि यह भी बिल्कुल फ्री थे।

तब हमने सोचा कि क्यों ना इसके बारे में भी आपको बताया जाये ताकि आप इसका ज्यादा से ज्यादा लाभ उठा सके। क्योंकि यह काउंसलिंग टेस्ट भी आपको आगे का निर्णय लेने और पोस्ट ग्रेजुएशन करने में बहुत सहायता करेंगे। इसके लिए भी आप बस इस लिंक पर क्लिक करे और देखिये कई विषयों के लिए उपलब्ध ऑनलाइन फ्री करियर काउंसलिंग टेस्ट के बारे में विस्तार से।

#7. दूसरों का अनुभव जाने (Learn From Others Experience)

इसके लिए आप अपने सीनियर, परिवार में किसी बड़े भाई या बहन से अच्छे से विचार-विमर्श भी करे। उनसे बातचीत करना ज्यादा बेहतर रहेगा जिन्हें इस बारे में जानकारी हो या जो पोस्ट ग्रेजुएशन कर रहे हो या कर चुके हो। उनसे बात करने से आपको और अच्छे से गाइडेंस मिलेगी और उनके अनुभव से ज्यादा जानने को मिलेगा सो अलग।

इसलिए किसी से अपने आगे के निर्णय के बारे में राय लेने से झिझके मत और उनसे खुलकर बात करे और अपनी समस्या या शंका उन्हें बताये। क्या पता किसी के अनुभव से आपकी शंका का समाधान चुटकियों में ही हो जाए।

तो ऊपर दिए गए पॉइंट पर यदि आप अच्छे से गौर करेंगे और हमारे बताये अनुसार कार्य करेंगे तो अवश्य ही आगे का मार्ग प्रशस्त होगा और आपका पोस्ट ग्रेजुएशन करने का निर्णय और ज्यादा सरल हो जाएगा।


16388575391638857539
लविशा बंसल
मैं 10 वर्षों से विभिन्न विषयों पर लिख रही हूँ जिसमें मुख्य महिलाओं तथा स्वास्थ्य से जुड़े विषय होते हैं। राजस्थान की धरती से हूँ और हिंदी भाषा की प्रेमी।


Share the Article :

Download App

Get The App

Experience the best of SHEROES - Download the Free Mobile APP Now!