बॉडी लैंग्वेज कैसे सुधारे

Published on 19 Sep 2019 . 1 min read



body language in hindi body language in hindi

यदि आप अपनी बॉडी लैंग्वेज को सुधारना चाहते है तो आपको नीचे दिए गए कुछ टिप्स अपनाने है। दोस्तों, यहां दिए गए टिप्स आपको अपनी बॉडी लैंग्वेज को और बेहतर बनाने में मदद करेंगे और आप दूसरों की नजरों में एक अच्छी छवि भी बना पाएंगे। आइए आपको बहुत सरल भाषा में कुछ महत्वपूर्ण बातें बताते है जो आपको आपके जीवन के हर क्षेत्र में बहुत उपयोगी सिद्ध होंगी और इससे आप अपनी बॉडी लैंग्वेज भी आसानी से सुधार सकेंगे।

क्या होती है बॉडी लैंग्वेज

बॉडी लैंग्वेज को हम एक ऐसी कला कह सकते है जिसका सीधा सम्बन्ध हमारी सफलता से होता है। या फिर यूँ कहे कि अगर हमारे पास एक अच्छी बॉडी लैंग्वेज नहीं है तो यह हमारी असफलता का कारण भी हो सकता है। अपनी बॉडी को सही स्थिति में रखना हमारी सेहत पर भी असर करता है और इसका प्रभाव हमारी निजी और कामकाजी  ज़िंदगी दोनों पर पड़ता है। तो जरूरी है कि हम इस असफलता को अपनी जिंदगी से दूर करें और एक अच्छी बॉडी लैंग्वेज और अच्छे व्यवहार के साथ सबको अपनी और प्रभावित करें।

कैसे सुधारें बॉडी लैंग्वेज

बॉडी लैंग्वेज को सुधारने के लिए बस कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना है। कौन सी बातों का रखना है ध्यान....

#1. आई कॉन्टेक्ट

दोस्तों किसी को देखने का हमारा अंदाज़ अपने आप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आँखों के जरिए हमारे आत्मविश्वास की जानकारी मिलती है। किसी से बाते करते समय हमें अपनी आँखों को सामने वाले से चुराना नहीं चाहिए, नहीं तो सामने वाले को लगेगा कि आप उसकी बातो में रुचि नहीं रखते हैं। देखते समय आपको यह भी ध्यान रखना है कि सामने वाले को यह महसूस ना हो की आप उसे घूर रहे हैं। आपको ऐसे दिखाना है कि आप उसकी बातों में बहुत गहनता से रुचि ले रहे हैं।

#2. विनम्रता के साथ मिलना

जब भी आप किसी से मिले तो अपने चेहरे पर एक विनम्र भाव अवश्य रखें। आपको सबसे पहले मिलने वाले इंसान के साथ विनम्रता से हाथ मिलाना है और बड़ी शालीनता के साथ उनका कुशल मंगल पूछना है फिर आगे अपनी बात को बढ़ाना है। इससे आप अपनी बात को एक अच्छी शुरुआत दे सकते है और यह एक अच्छी बॉडी लैंग्वेज को भी दर्शाता है।

#3. दूरी बनाए रखें

जब भी हम किसी इंसान से मिलते हैं तब हम इस बात का खास ख्याल रखना है कि उससे बातें करते समय उचित दूरी बनाए रखें। अगर उसके बिल्कुल पास खड़े होकर हम उससे बाते करेंगे तो हो सकता है वह असहज महसूस करें और खुलकर बातें ना कर सके या फिर चिड़ जाए और बातें ही ना कर पाए।

#4. झुकना नहीं चाहिए

आजकल ज्यादातर इंसान कंप्यूटर पर काम करता है जिसके कारण उससे झुककर काम करने की आदत पड़ गई है। किसी से भी बातें करते समय हमें खास ध्यान रखना है कि झुकना नहीं है और ना ही अपने हाथों पैरों को हिलाते हुए बातें करनी है। ऐसा करने से आपके प्रति उस व्यक्ति का नकारात्मक दृष्टिकोण बन सकता है।

#5. स्माइली फेस

दोस्तों मुस्कुराता हुआ और खिलखिलाता हुआ चेहरा किसे पसंद नहीं है। जब भी आप किसी से मिलने जाते हैं तो अपने चेहरे पर एक हल्की मुस्कान रखें। किसी भी प्रकार का स्ट्रेस आपके चेहरे पर नजर नहीं आना चाहिए। जब भी कोई इंसान आपका मुस्कुराता हुआ चेहरा देखेगा तो वह आपसे बातें करें बिना रह नहीं सकता और बिना किसी हिचक और परेशानी के सहजता के साथ आपसे बातें करेगा।

#6. सकारात्मक रहना सीखें

जब भी आप किसी से मिलने जाएं तो अपने व्यवहार को सकारात्मक रखें। अगर आप अपने साथ नकारात्मकता को लेकर जाएंगे तो कोई इंसान आपसे प्रभावित नहीं हो सकता। अतः आपको प्रयास करना चाहिए जब भी आप किसी से मिले तो एक सकारात्मक उर्जा के साथ मिले, ताकि सामने वाला आपके सकारात्मक विचारों से प्रभावित हुए बिना न रह सके।

कुछ और बातों का भी रखें विशेष ख्याल

दोस्तों इसके अलावा भी हम छोटी-छोटी बातें आपको बताते हैं जिनका ध्यान रखकर आप अपनी बॉडी लैंग्वेज को बहुत ही प्रभावी बना सकते हैं, जैसे कि:

  • जब भी आप किसी इंसान से मिले तो अपने हाथों को बार-बार रगड़े नहीं।
  • बार-बार अपने बालों को ठीक मत करें।
  • अगर आप किसी के सामने अपने विचार रख रहे हैं तो पूरे आत्मविश्वास के साथ रखें।
  • किसी भी प्रकार की हिचक झिझक अपनी बातों में प्रकट न होने दें।
  • सबसे बड़ी बात, अपनी बात कहते हुए एक हल्की सी मुस्कान सदैव अपने चेहरे पर बनाए रखें।
  • अपने कंधों को सदैव सीधा रखें। जब भी आप किसी से मिले तो ना ज्यादा तन कर बैठे ना ही ज्यादा झुक कर, यह आपको दूसरों के सामने असुरक्षित प्रदर्शित कर सकता है।

इस प्रकार कुछ छोटी मगर मोटी बातों को ध्यान में रखकर हम अपने व्यवहार को और अपनी बॉडी लैंग्वेज को इतना प्रभावी बना सकते हैं कि हमसे मिलने वाला प्रत्येक व्यक्ति प्रभावित हुए बिना नहीं रह सकता। यह सच कहा जाता है कि हमारी बॉडी लैंग्वेज का प्रभाव हमारी निजी और  कामकाजी ज़िंदगी दोनों पर पड़ता है। अतः हमें अपनी बॉडी लैंग्वेज को इस प्रकार का बनाना है कि जब भी कोई हमसे मिले तो हमें परिपूर्ण कहें।

इसे भी पढ़ें:


15687016571568701657
Kanika Gautam
An ardent writer, a serial blogger and an obsessive momblogger. A writer by day and a reader by night - My friends describe me as a nocturnal bibliophile. You can find more about me on yourmotivationguru.com

Explore more on SHEROES

Share the Article :

Responses

  • M*****
    अच्छी हिदायत अच्छी प्रभावी है।धन्यवाद
  • V*****
    Thenk you kanika ji
  • R*****
    Thnx dear three cheers for u
  • R*****
    Nice mam
  • D*****
    Nice
  • S*****
    Nice ji
  • R*****
    Very good
  • K*****
    अती उत्तम
  • B*****
    Useful tips thanks
  • J*****
    Thanks🙏
  • N*****
    Thanks🙏. 👌Just keep going on motivating path👍
  • N*****
    Nice
  • S*****
    Very nice 👍 tips
  • R*****
    Supb... instructions for body language di
  • G*****
    Khub bhalo laglo jante pere try korbo korar
  • V*****
    Bahut acha likha hai aapne, main bhi try karti hun
  • P*****
    Very good
  • S*****
    Nice knika ji
  • M*****
    Nice knika g
  • M*****
    Mast he....
  • S*****
    Nice
  • N*****
    Nice