1551350943img-20170722-wa0047
Ramandeep
11 Jun 2019 . 1 min read

एलोवेरा है आयुर्वेदिक गुणों का ख़ज़ाना !


Share the Article :

aloe vera uses in hindi aloe vera uses in hindi

“यह क्या प्रिया तुम आज फिर इतने सारे फेस पैक और क्रीम खरीद कर ले आई हो?”  प्रिया की माँ ने प्रिया के हाथ में टंगे सामान के बैग की ओर देखते कहा।

तुम्हें कितनी बार कहा है इन सब चीज़ों से तुम्हारा चेहरा और खराब हो जाएगा। इन सबको बनाने के लिए कई प्रकार के केमिकल का प्रयोग किया जाता है, और फिर तुम अभी बच्ची हो, तुम्हारी त्वचा अभी मासूम है तुम अपनी त्वचा पर इन सब का प्रयोग मत करो। ये न केवल त्वचा के लिए नुकसानदायक है बल्कि महंगे भी हैं। प्रिया की मां ने बैग में से एक-एक डिब्बा निकाल कर प्राइस टैग दिखाते हुए कहा जरा देखो एक-एक डिब्बे की कीमत कितनी ज्यादा है। सोचो यदि इनमें से कोई क्रीम या फेस पैक तुम पर सूट ना करे तो वह डिब्बा फिर व्यर्थ ही जाएगा ना। जब भी प्रिया बाजार से इस तरह के सामान लाती तो उसकी मां और दादी लगातार इसी तरह कई तरह से प्रिया को समझाने की कोशिश करतीं पर प्रिया को ये बातें अच्छी नहीं लगती थीं।

उसे लगने लगा था कि उसकी माँ को मॉडर्न जमाने की बड़ी-बड़ी कंपनियों में बने इन उत्पादों का ज्ञान नहीं है इसलिए वह इस तरह की बातें करती हैं।  कई तरह से समझाने के बाद भी जब प्रिया को अपनी मां की बात समझ नहीं आई, तब प्रिया के मां के मन में क्या विचार आया कि क्यों ना मैं उन प्राकृतिक चीजों का स्वयं इस्तेमाल करना शुरू कर दूं, जिससे त्वचा को निखार, चमक और  प्राकृतिक सौंदर्य मिलते हैं। हमारी रसोई और बगीचे में ऐसी कई वस्तुएँ पाई जाती है जिनमें भरपूर सौंदर्य छिपा हुआ है।

प्रिया की मां चाहती थीं कि किसी भी तरह प्रिया प्राकृतिक चीजों की ओर अपना  रुझान बढ़ाये और अपने स्वास्थ्य एवं त्वचा के लिए केमिकल की बजाय प्राकृतिक चीजों को अपनाएं। इस पर और वजन डालने के लिए प्रिया की मां एक दिन प्रिया को पास ही के एक प्राकृतिक चिकित्सालय में ले गई जहां एलोवेरा को लेकर एक वर्कशॉप कराई जा रही थी। इस वर्कशॉप के कारण प्रिया को एलोवेरा से संबंधित इतनी जानकारी मिली कि उसके दिमाग में प्राकृतिक चीजों के प्रति समझ और विचार दोनों में सकारात्मक परिवर्तन आया। एक दिन के कार्यक्रम में एलोवेरा की संपूर्ण जानकारी कुछ  इस प्रकार दी गई।

क्या होता है एलोवेरा (Kya Hota Hai Aloe Vera):

एलोवेरा, जिसे ग्वारपाठा के नाम से भी जाना जाता है, एक औषधीय पौधे के रूप में मशहूर है। इसके अर्क या जेल का प्रयोग बड़े स्तर पर सौंदर्य प्रसाधन और वैकल्पिक औषधि के रूप में किया जाता है। उदाहरण के लिए त्वचा को युवा रखने वाली क्रीम, दवाइयाँ बना कर भी प्रयोग में लिया  जाता है। भारत में इसका प्रयोग पारंपरिक चिकित्सा में किया जाता है। मान्यता है कि एलोवेरा विषैले होते हैं पर ऐसा नहीं है लेकिन अगर इसका सेवन ज्यादा मात्रा में किया जाये तो यह हानिकारक हो सकता है। मान्यता है कि घाव के भरने में भी एलोवेरा का उपयोग प्रभावी इलाज के तौर पर किया जाता है। जलने और घाव पर लगाने के अलावा इसके सेवन से मधुमेह रोगियों की रक्त शर्करा के स्तर में सुधार आता है साथ ही यह उच्च लिपिडेमिक रोगियों के रक्त में लिपिड का स्तर भी घटाने में सहायक होता है।

एलोवेरा जेल बनाने की विधि (Aloe Vera Gel Banane Ki Vidhi):

हाथ को अच्छी तरह से धो लें : एलोवेरा जेल निकालने से पहले अपने हाथ को अच्छी तरह से धो लें क्योंकि आपके हाथ पर लगी गंदगी जेल को खराब कर देगी।

#1. ऐलोवेरा की पत्ती काटें:

एलोवेरा के पौधे की बाहर कि एक पत्ती काटें क्योंकि बाहर की पत्तियाँ ज्यादा पकी होती हैं और उनमें बहुत सारा ताज़ा जेल होता है। पौधे के बाहर ज़मीन के पास उगने वाली पत्तियों को देखें फिर उनमें से एक को, एक तेज़ चाकू की मदद से पौधे के निचले हिस्से से सावधानी से काटें। ऐलोवेरा जेल ज्यादा दिन नहीं चलता है इसलिए इसे ज्यादा मात्रा में नहीं बनायें, एक या दो बड़ी पत्तियों को काटकर करीब आधा से एक प्याला जेल प्राप्त किया जा सकता है।

#2. पत्ते का गहरा पीला पदार्थ निकल दें:

एलोवेरा की पत्तियों में एक गाढ़े पीले रंग का पदार्थ पाया जाता है जिसे रेज़िन कहते हैं,  रेज़िन में लैटेक्स (latex) होता है जिससे त्वचा में जलन हो सकती है। एलोवेरा के पत्ते को काटकर पत्ते को ऊपर की ओर करके 10 मिनट तक एक गिलास में रखें| ऐसा करने से पत्ते में से निकलने वाला गाढ़ा पीला पदार्थ निकल जाएगा|

#3. पत्तियों को छीलें:

सब्जी छीलने वाले चाकू की मदद से सावधानी से पत्तियों का हरा हिस्सा छीलें औ्र इसे साफ़ करते समय अंदर की सफेद परत ज़रूर हटायें। फिर पत्ती के एक ओर का छिलका पूरी तरह हटाकर एक तरफ की जेल से भरी हुई आधी पत्ती रहने दें।

#4. जेल को एक चम्मच से निकालें:

पत्ती को छीलने के बाद पानी जैसा पारदर्शी और नरम जेल प्राप्त होगा| इसे आसानी से चम्मच से निकाल कर एक साफ पात्र में निकाल लें। बिना कोई पदार्थ मिलाए ताजे एलोवेरा जेल को फ्रिज में एक सप्ताह तक सुरक्षित रखा जा सकता है| अगर आपके घर में एलोवेरा का पौधा  नहीं है, तो आप कटे हुए पत्तों को बाजार से ख़रीद कर घर पर जेल निकाल सकते हैं |

जेल में प्राकृतिक संरक्षक (preservative) :

अगर आपके पास बहुत सारा जेल है तो उसे एक या दो महीने रखा जा सकता है, तो हर 1/4 प्याला जेल के लिए करीब 500mg विटामिन C का पाउडर या 400 IU विटामिन E मिलाने से एलोएवेरा जेल जल्दी ख़राब नहीं होगा। अब इस जेल को एक विसंक्रमित (sterilized), साफ काँच के जार (jar) में रखें।

एलोवेरा का इस्तेमाल जेल, बॉडी लोशन, हेयर  जेल, स्किन जेल, शैंपू, साबुन, फेशियल फोम, ब्यूटी क्रीम, हेयर स्पा इत्यादि के निर्माण में भी किया जाता है।

एलोवेरा और स्किन केयर (Aloe Vera Aur Skin Care):

वर्कशॉप का यही हिस्सा प्रिया के लिए सबसे कारगर था क्योंकि यह बात जानना आवश्यक था कि एलोवेरा में ऐसा क्या है जिससे स्किन को कुछ खास मिल सकता है।  इस विषय पर बात करते हुए उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए वक्ता ने कहा, दोस्तों आज हम जानेंगे कि एलोवेरा जेल में ऐसी क्या ख़ूबियाँ हैं और इसमें ऐसा क्या मिलाया जाए जिससे हमारी स्किन में निखार आ जाये।  यहाँ हम हर प्रकार के नेचुरल उपायों की बात करेंगे जिनका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं होगा और इसे कोई भी व्यक्ति इस्तेमाल कर सकता है।

#1. ऑयली स्किन के लिए एलोवेरा:

अगर आपकी स्किन काफी ऑयली है तो इसके लिए आप दो चम्मच एलोवेरा जेल में एक चम्मच kaolin clay मिलाइये और अच्छे से अपने फेस पर लगा कर कुछ देर के लिए छोड़ दीजिये। सूखने पर ताज़े पानी से हल्का मसाज करते हुए धो लीजिये। आपकी स्किन कोमल और निखर जाएगी।

(kaolin clay को white clay भी बोलते हैं, यह किसी भी मेडिकल स्टोर से आसानी से मिल जाती है। Kaolin clay चेहरे को टाइट और ब्राइट करता है और चेहरे पर पड़ने वाली झुर्रियों को दूर करने में सहायक होता है, इसलिए इसे आजकल ब्यूटी क्रीम में भी इस्तेमाल किया जाता है। )

#2. ड्राई स्किन के लिए एलोवेरा:

अगर आपकी स्किन ज्यादा ड्राई है तो एलोवेरा में एक चम्मच ग्लिसरीन डालें। ग्लिसरीन से चेहरे का मॉयश्चर बना रहेगा और स्किन स्वस्थ हो जाएगी।  इस फेस पैक को पूरे चेहरे पर लगाएँ, जब यह सूख जाए तो ताज़े पानी से धो दीजिए। इस फेस पैक को रात को लगाने से और भी अच्छा रिजल्ट मिलेगा।

एलोवेरा के अनगिनत फायदे :

  1. एलोवेरा में विभिन्न मिनरल्स, विटामिन्स होते हैं, इसलिए इसका प्रयोग पौष्टिक आहार के रूप में भी होता है।
  2. यदि रोज सुबह एलोवेरा जूस के लगभग एक छोटे प्याले का सेवन किया जाये तो  दिनभर शरीर में ताकत और स्फूर्ति बनी रहती है।
  3. एलोवेरा डायबिटीज़ के रोगियों के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है। यह रक्त में शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है।
  4. गर्भाशय के विभिन्न रोगों में एलोवेरा चमत्कारी रूप से काम करता है।
  5. पेट से संबंधित समस्याओं में एलोवेरा रामबाण उपाय  है।
  6. जोड़ों के दर्द में एलोवेरा काफी आराम पहुँचाता है।
  7. त्वचा की तमाम समस्याएँ जैसे पिंपल्स, रूखी त्वचा, धूप से झुलसी हुई त्वचा, चेहरे पर दाग-धब्बे, आंखों के काले घेरे, फटी एड़ियों के लिए एलोवेरा काफी लाभदायक होता है। एलोवेरा जूस के सेवन से त्वचा में निखार आने लगता है। इसके नियमित सेवन से आपकी त्वचा लंबे समय तक जवां और चमकदार रहती है।
  8. यह खून की कमी को दूर करता है तथा शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
  9. जलने, कटने, अंदरूनी चोटों आदि पर एलोवेरा अपने एंटी बैक्टेरियल और एंटी फंगल गुण के कारण घाव को जल्दी भरता है।
  10. एलोवेरा मच्छर से भी त्वचा को सुरक्षित रखता है, क्योंकि इसमें प्राकृतिक रूप से मॉस्किटो रिपेलेंट जैसे गुण मौजूद होते हैं।
  11. एलोवेरा जेल या रस को मेंहदी में मिलाकर बाल पर लगाने से बाल चमकदार व स्वस्थ हो जाते हैं।
  12. एलोवेरा के रस में नारियल तेल की थोड़ी मात्रा मिलाकर कोहनी, घुटने व एड़ियों पर कुछ देर लगाकर धोने से इन जगहों पर पड़ने वाला कालापन दूर होता है।
  13. शेव करने के बाद यदि चेहरा कट जाता है या फिर जलन होने लगती है, तो ऐसे में एलोवेरा का जेल ऑफ्टर शेव की तरह भी काम करता है।
  14. एलोवेरा रक्त शोधक के रूप में भी कारगर है और पाचन क्रिया के लिए गुणकारी और सहायक सिद्ध होता है।
  15. वज़न घटाना हो तो एलोवेरा जूस के नियमित इस्तेमाल से वजन बड़ी आसानी से घट जाता है
  16. बहुत ही कम लोग जानते हैं कि एलोवेरा का जूस पीने से पीलिया में भी फायदा पहुँचता है।
  17. गर्भावस्था के दौरान पेट पर आने वाले स्ट्रेच मार्क्स दूर करने में एलोवेरा बेहद लाभकारी है।

प्रिया बहुत खुश थी और अपनी माँ के साथ इस वर्कशॉप का भरपूर आनंद उठाते हुए प्राकृतिक चीज़ों की ओर अपना रुझान बढ़ा रही थी।  

हमें भी इस बात को समझना चाहिए कि जो बात प्राकृतिक चीजों में है वह केमिकल्स ने नहीं। हम जितना ज्यादा प्राकृतिक चीजों की ओर अपना रुझान रखेंगे उतना ही खुद और आने वाली पीढ़ी का उद्धार होगा।

पढ़ें हमारे और दूसरे हिंदी लेख ​- 


15602339711560233971
Ramandeep
An intense writer, a poetess with feel & purpose, a vigorous blogger to motivate homemakers and a spiritual mind maker. I believe in moving along with everyone. You can find more about me on pearlsofwords.com

Explore more on SHEROES

Share the Article :

Responses

  • S*****
    Subh khali pet alovera ka juic len pani ke mix kr k
  • P*****
    Meri skin pr pimple h me alovera Ka kese use Kru ki pimple or Jo purane nishan h vo hat Jaye Please jaldi btaye
  • S*****
    Mere brother ka buizness hai alovero products wo sab khud hi bnate hai
  • B*****
    Hamare ghar mein bhot sare alovera ke podhe hai ab unko ukhadkr rakh diya hai fir bhi hfte bhr se ase k ase hai
  • A*****
    बहुत बढिया जानकारी है
  • D*****
    आपने बहुत ही बढीया जानकारी देकर हमें एलोवेरा के प्रकृतिक गुणों से अवगत कराया। आपका बहुत बहुत धन्यवाद🙏💕
  • V*****
    Really very useful