1494913646photo
SHEROES
22 Mar 2018 . 1 min read

क्या आज भी हमारे देश में गोरा होना ही सुंदरता है ?


Share the Article :

breaking fairness stereotypes breaking fairness stereotypes

मैं यहां गोरा बनने के लिये की जाने वाली खोज के बारे में बात नहीं कर रहा हूं। मेरा मतलब है कि भारत में गोरा शब्द का प्रयोग हम सिर्फ त्वचा का रंग हल्का बताने के लिये ही करें।  

बुद्धिमानी की दौड़ में भारत एक अद्वितीय देश है। हम न तो सफेद हैं और न ही काले हैं। हम पूरी तरह से भूरे रंग के भी नहीं हैं। बेहद गोरा (एक विशेष शब्द जिसका उपयोग केवल भारत में आपकी त्वचा के रंग का वर्णन करने के लिए किया जाता है) से गेहुंआ (भारत में इस्तेमाल किया जाने वाला एक अन्य शब्द) से काला होने तक हमारी त्वचा के रंगों में विधिधता और विजातीयता समाज में गहरे भेदभाव और पूर्वाग्रह पैदा करती है। खासतौर पर महिलाओं को इस भेदभाव का पूरी जिंदगी सामना करना पड़ता है। गोरेपन को लेकर भारतीय समाज की सोच को जानने के लिये आपको सिर्फ किसी भी अखबार के के वैवाहिक अनुभाग (मैट्रोमोनियल सेक्शन) में वधू चाहिये विज्ञापनों को पढ़ना चाहिये। आपको यह देखकर आश्चर्य होगा कि लगभग हर माता-पिता अपने लिये गोरी बहू की चाह रखते हैं। और जैसा कि गोरा बनाने की क्रीमों के विज्ञापनों में दिखाया जाता है कि जीवन में सफलता पाने के लिये गोरा होना जरूरी है, यही धारणा हमारे मन में बैठ चुकी है।

आपको गोरा बनाने के सपने दिखाने वाले ‘फेयरनेस क्रीम’ के विज्ञापनों का मूल यह है कि आप जैसा दिखते हैं वैसा दिखना स्वीकार नहीं करते और टैलकम पाउडर और फेयरनेस क्रीम लगाये बिना दुनिया से मेलजोल करते हुए अच्छा महसूस नहीं करते। यह सोच आपके खुद को स्वीकार न कर पाने और आत्मसम्मान में गिरावट को प्रदर्शित करता है। यह नुकसान एक ही दिन में नहीं हुआ है। भारत में लड़कियों के लिये बचपन से लेकर जवान होने तक दिन-ब-दिन यह नुकसान होता रहा है। हम बच्चों के साथ जैसा बरताव करते हैं उसका असर उनके व्यस्क हो जाने के बाद उनके व्यवहार से दिखाई देता है।  

यहां तक की एक नवजात शिशु को भी इस भेदभाव का सामना करना पड़ता है। नवजात शिशु को देखने के लिये आने वाली बुजुर्ग महिलाएं बच्चें के चेहरे को ध्यान से देखती हैं और बच्ची के गोरा होने या गोरा न होने के आधार पर उसके माता-पिता को भाग्यशाली या दुर्भाग्यशाली बताती हैं। खासकर उत्तर भारत के गांवों और छोटे शहरों में ऐसा होता है। लड़कियों का रंग काला हो जाने के डर से दादी मां या मां कई बार उन्हें धूप में खेलने से रोकती हैं। बच्चियों की तुलना उनकी त्वचा के रंग के आधार पर की जाती है, और जो बच्चियां गोरी हैं और इसलिये सुंदर हैं कि तारीफ की जाती है।  उन बच्चों की प्रशंसा करते हैं जो गोरे हैं और इसलिये सुंदर हैं। गोरेपन पाने की तलाश करना कोई नयी बात नहीं है। कुछ पुरानी कहावतें हैं जो गोरी त्वचा पाने के लिये हमारे मन में जगह बना चुकी तीव्र इच्छा का उदाहरण हैं।

इसका एक उदाहरण यह कहावत है  एक गोरापन चेहरे की 10 कमियों को छिपा सकता है। लिंग में अंतर के साथ ही रंग भेदभाव भी बदल जाता है। जब एक लड़के का रंग काला होता है तो कहा जाता है, एक आदमी उतना ही सुंदर होता है जैसा कि वह करता है, लेकिन एक लड़की के लिये वह कैसा दिखती है ही सबकुछ होता है। ‘सुंदरता सतही होती है और मुखपृष्ठ (कवर) को देखकर किताब का सही अंदाजा नहीं लगाया जा सकता ’ जैसे मुहावरों का प्रयोग लड़कियोंं के लिये नहीं किया जाता। वास्तव में लड़कियों का आंकलन उनके शारीरिक दिखावे से किया जाता है जिसमे गोरी त्वचा को किसी भी अन्य विशेषता से अधिक  महत्व दिया जाता है। भारत में त्वचा का रंग गोरा होना सुंदरता का पर्याय बन गया है क्योंकि यहां गोरेपन का अधिक महत्व दिया जाता है।

ऐसा नहीं है कि जो लोग गोरी त्वचा लेकर पैदा होते हैं वह गोरा होने की इच्छा नहीं रखते। बल्कि वह और अधिक गोरा होना चाहते हैं। गोरेपन की तलाश कभी पूर्ण नहीं होती। कई गोरी लड़कियां भी गोरा बनाने के उत्पादों का प्रयोग करती हैं। एक बार मैंने एक युवा वधू के बारे में कहते हुए सुना था कि वह इतनी गोरी थी कि अंधेरे कमरे में भी बल्ब की तरह चमकती थी। क्या आप गोरेपन को लेकर भारतीय समाज में व्याप्त जुनून की कल्पना कर सकते हैं? इसका दुष्प्रभाव युवा भारतीय लड़कियों की मानसिकता पर पड़ता है और वह सुंदरता और आत्मछवि को लेकर अपनी आदर्श प्रणाली खो देती हैं। जब उनसे कहा जाता है कि वह पर्याप्त रूप से गोरी नहीं हैं तो उनमे हमेशा के लिये आत्मसम्मान और आत्मविश्वास की कमी हो जाती है। इस दबाव में आकर वह जैसी दिखती हैं वैसा होना स्वीकार नहीं कर पाती। वह उनके कौशल, ज्ञान को बढ़ाने और जीवन पर वास्तव में प्रभाव डालने वाली बातों पर ध्यान लगाने की बजाये गोरा बनाने वाले उत्पादों का प्रयोग कर अपनी त्वचा के रंग को छिपाने में लग जाती हैं।

मैं उन मशहूर हस्तियों का सम्मान करता हूं जिन्होंने गोरा बनाने वाले उत्पादों का विज्ञापन करने से इनकार किया है। हर शिक्षित व्यक्ति जानता है कि आप लाख कोशिशों के बावजूद अपनी त्वचा के रंग को बदल नहीं सकते। आपकी त्वचा का रंग आपके जीन में कूटबद्ध (कोडिड) होता है। यामी गौतम और आलिया भट्ट जैसी शख्सियतें भी त्वचा को गोरा बनाने वाली क्रीम के विज्ञापन करती हैं। जबकि यह महिलाएं इन उत्पादों का प्रयोग कर के गोरी नहीं बनी हैं बल्कि उनके जन्म लेते समय भी उनकी त्वचा गोरी ही थी। यह बात वह अच्छी तरह से जानती हैं लेकिन इसके बावजूद वह ऐसे विज्ञापन करती हैं जो युवा मन को भ्रमित और गुमराह कर रहा है। वे इन उत्पादों का समर्थन ही नहीं कर रहीं बल्कि वह इस तथ्य को सही ठहरा रही हैं कि इस देश में गोरा पैदा होना आपको विशेष अधिकार देता है। और मेरे हिसाब से ऐसा करना उचित नहीं है।


15217049281521704928
SHEROES
SHEROES - lives and stories of women we are and we want to be. Connecting the dots. Moving the needle. Also world's largest community of women, based out of India. Meet us at www.sheroes.in @SHEROESIndia facebook.com/SHEROESIndia

Explore more on SHEROES

Share the Article :

Responses

  • S*****
    Logon ki mentality nhi badalti h
  • T*****
    Mai bhugtbhogi hu
  • M*****
    Haaji
  • T*****
    Yes
  • A*****
    nahi asli sundarta to aapke boli aur aapke talents se nikharti hai
  • R*****
    Muje nhi lagta achche guno k aage gora rang bilkul bekar h
  • R*****
    Ha sayad kuki sbko gori bahu chahiye or society b gori ldkiyo ko hi sundar khti h jinka color weatish h wo to sundar h hi nhi unke liye ,jha jao use ldki hori hi chahiye hoti h aj duniya m sirf face dekha jata h insan k nature nhi dekhta koi b
  • J*****
    Janki ji yahan aapke pariwaar walon ki soch sahi nahi hai ..unki mansikta me kide lage hai or kisi ko nahi to aapke husband ko aapka sath dena chahiye.. aap apne aap me sampoorn hai aap khus rahen or apne aapko kam mat samjhe.. apna khayaaal rakhen..
  • J*****
    Mera rang b savla h ,or main ek well educated hone k bad b khud ka confidence km mahsus krti hu kyoki mere sasural me sb bohot gore h or unhe b ek gori bahu chahiye thi ,main mere sasural me sabko bohot respect Dete hu lakin fir b mera rang mere sare guno k aage bhari padta h, yhA tk ki mera khud ka husband tk mujhe kabhi saport nhi krta kyoki vo bohot gore or main savli hu.
  • R*****
    Theek hai gora hona sundarta ki Nissani Hai lakin agar aap ka mann,accha nahi, hai tub gora hona bekar hai
  • H*****
    Abhi ke time me sub log gora hona hi pasand karta he but sachhe here ko to ek sunar hi pahechan sakta he
  • F*****
    Kabhi kabhi sanwle log bhi bahut khubsurat lgte h
  • F*****
    Mere hisab se ye apne nazariye pe depend karta h k aap khud ko Kitna pasand krti h dusre to bas her chiz me kami nikalte h
  • V*****
    Yes
  • R*****
    Haa Shyad duniya m gora hona Bahut jaroori h Because hum khud saawale h aur Bahut jyada negative baate suni h humne humare dark color k wajah se Bahut kosis Ki thi humne Ki beti sundar Ho because hum nahi chahte the beti duniya m dard dekhe complexion ki wajah se but wo bhi dark complexion ki h aur Bahut jyada negativity dekhni padhti h Ussko bhi Koi bhi quality nahi dekhta pahle Sab rup rang
  • P*****
    Sirf Bharat ke samaj ki aisi gradit mansikta hai,
  • S*****
    Haa or y dusron se jyada to ghr wale hi mahsus krwate h
  • R*****
    Sirf hamare desh main nahi balki bahari desh main bhi gore rango jyda mhtav dete hai log chehre k rangse hi logo ko criticize karte log...
  • K*****
    Yes
  • S*****
    Right
  • A*****
    Right
  • A*****
    Jo kale h unse pucho.... Sirf bato se kuch ni hota... Aae din kuch na kuch sunna padta h... Mazak k patr bnte h
  • J*****
    Mujhe nahi lagta h Gora kala m bhed karna chahiye aur padhe likhe log to is bat pr kv samarthan apna nahi denge mera itna manna h ki insan k rang dekh kr unka aaklan nahi karna chahiye gora kala ka bhed wahin karte hain jo anpadh ya km padhe likhe hain India m aese bahut log hain jo bahut kale hone k bad v aaj bahut bade bade hasti hain gar o ye sochte ki hm kale hain hm khud ko kisi k samne present nahi kr payenge agar unki soch ye hoti to mera kahan a ki o kv successful nahi ho pate aaj wahi log bade bade desh m jakar khud ko o present karte hain unki utna hi respect hota log unki success ka gun gan karte hain unki tarh banna chahte hain aur jahan bat gorepan ki to ye jaruri to nahi h lekin phir v chahte hain to paisa khub kamaye aur lejarskin karaye kajal ki tarh aap log v gore honge lekin mere liye rang nahi talent important rakhta jink liye gorepan important h o bekuf hain
  • A*****
    Sahi hai.. Meri beti bhi khud ko kam sundar samjhti hai.. Kyuki uska rang thoda sa Savla hai, jab ki Ek achhi hospital me staff nurse ki Job karti hai.. Bahot samjhati hoon lekin fir bhi kabhi kabhi udaas ho hi jati hai..
  • A*****
    ha agr gora n ho to kch bhi ni h girls ke liye
  • A*****
    Yes girls ke liye most important aaj BHI
  • M*****
    Hi ha aaj bhi gora hona hi Mayne rakta h kyuki savali rangat wale Insaan Ko to dekhte hi bevkoof Maan liya Jata h or gore Ko dekhte hi use duniya ka Sabse hosiyar Insaan Maan liya Jata h fir chahe uske Ander laakh kami ho uska rang uski kamiyo Ko chupa deta h meri sAadi Ko 8 saal ho gye pr main aaj bhi Apne pati sahit sabki upeksa jhel rhi hoo Apne savle rang ki vajah se kya kuch nhi Kiya unke liye pr...
  • K*****
    Haa aaj bhi gora hona hi sundarta h kyuki is dansh ko maine jhela h
  • B*****
    Hello friends.gora hona.gora hone se kya Dil ki Bhawna Badal jati hai.gore hone se kuch nahi hota hai.app ke Dil me kisi ke liye respect ,kisi dusre ke dukh Dard me kaam Anna Sab se badi baat hai.gora Kala toh god ki dain hai.
  • G*****
    सुन्दरता का पैमाना सूरत नहीं,सीरत होनी चाहिए
  • P*****
    असली खूबसूरती तो नशा करने वालो की आँखों में होती हैं
  • G*****
    Nhi, gorepan ka criteria india origin nhi hai.. Yahan seerat ki baat hoti thi, Guno ka vyakhyan hota tha, Ye to chalan nikkamo ne kiya shuru, Ye sach hai , sanwaLe, gehue, hr rang me sundarta dekhi jati hai. Nain aks ki baat yahin hoti hai, agar physical beauty ki baat karein.
  • A*****
    Aisi baat nahi
  • A*****
    Right
  • A*****
    Duniya me sirf rang 2 hi h ak Kala or gora to phir logo ki soch hmesha kale or gore pe hi ake rukti h
  • N*****
    Sb bolte hn Dil saf hona chiye pr sb skl hi dekhte hn
  • K*****
    Pta nhi log kyu nhi smjtai rang gora ho ja kala just dil saaf hona chayeiyai
  • T*****
    Sahi kaha Priya apne bolne ko sab bolte hai ki gora ya ksla rang koi mayne nahi rakhta lekin jab aurat ki sunderta ki baat aati hai to kuch log gore rang ko hi jada pasand karte hai ye hamare samaj ki mansikata hai no hum nahi badal sakte
  • P*****
    Kehne ko SB kehte h ki hum nhi mante bt ye bhartiya smaj ki mansikta h jise nakara nii ja skta
  • S*****
    Nhi hm nhi maante hai
  • J*****
    Shayad....
  • K*****
    True
  • S*****
    Gora rang hi jaruri nhi h
  • V*****
    गोरा रंग किसी सुंदरता का मापदंड नहीं है लेकिन शायद Beautiproducts ने अपनी marketing के लिए इस तरह से लड़कियों के मन में घर बना लिया है कि उन्हें cosmetic सुंदरता का पर्याय लगने लगा है। सुंदरता हमारे अपने भीतर होती है हमारा स्वभाव हमारे विचार हमारी सोच ही हमारे चेहरे पर परिलक्षित होती है।
  • B*****
    No
  • B*****
    No
  • S*****
    Ni
  • J*****
    Ji nhi
  • R*****
    Yh jaruri to nahi hai
  • B*****
    Nahi aisa kuchh nahi insaan ka wyahaar uski pahchan hai.na ki kala aor gora.
  • R*****
    किसी के खूबसरत दिखने से वो अच्छे नहीं हो जाते, अच्छाई तो व्यवहार से झलकती है, कोई अच्छा होने का दावा कर सकते है, दिखावा भी कर सकते है पर जो सच में अच्छे होते वो बस नजर आते ना कोई दावा ना कोई दिखावा यही बात रिश्तों पर भी लागू होती है ना कोई दावा ना कोई दिखावा
  • S*****
    Gora hona jaruri nahi aapka man sundar hona cahiye
  • N*****
    are nh smart dikhna koi bdi deal nh h... mene dekha ek ldka bda smrt or us nr ky kia bottl plastic ki ekdm trafic me bewkuf n on road fenki to ese gadho ka yr sundr hoke kya fyada jinko aata jaata kuj n believe in urslf or ap jo sikhte ho wo impo h n ki shkl
  • A*****
    Nahi kyuki khubsurti chehre se ni dil se dekhi jati h
  • T*****
    Nahi
  • J*****
    Nahi
  • S*****
    ha
  • L*****
    गोरे रंग पर मत जाओ जनाब, मैंने दूध से ज्यादा चाय के दिवाने देखें है।।
  • P*****
    Jee haan aaj bhi hamare desh mao gore hone ko sundarta se jod kar dekha jata hai । ye bade durbhagye ke baat hai jahaan dusre deshon mai gore hamare dusky look ko apnane k liye kya kya cosmetics nahi apnate wahin hamare samaj mai aaj bhi jab bete k liye bahu dekhni ho to gori ladki chaahiye । yahi to hamere samaj ke soch ke vidambana hai
  • R*****
    No
  • P*****
    No..
  • V*****
    Right
  • Y*****
    Depend on mentality...... jarurt nhi jiski rang gora h vo dil se bhi gora h
  • M*****
    Isse aap dusro ko prabhavit kr skte h.impressed him. Dil ka rista to mnn se hi judta h.
  • J*****
    No, because gora Ya Kala hona apne hatho me nahi hota hai isliye Hum sirf gore logo ko ahemiyat nahi de sakte
  • S*****
    Fashion
  • P*****
    Bikul,insaan bdi bdi Batain to bol deta hai ki nhi aacharn ache hone chahiye dil saaf hona chahiye, pr kabhi ager aise bande ko accept Krna Pde to saari Batain dhri ki dhri rh jaati hai
  • R*****
    No,insan apne achran see acha hota h
  • S*****
    Nhi, insan Apne karm se khubsurat hota h khubsurat hone k liye gora hone ki jrurat nhi h usme smjdari , Sanskaar hona jruri h respect hona jruri h
  • L*****
    सैक्स संबंध में प्यार जरूरी है? सवाल का जवाब
  • S*****
    I agree with Pushpa
  • P*****
    आपका सच्चा मन और अच्छा स्वभाव ही अपकी सुन्दरता है न की गोरा होना
  • P*****
    Bhut problem hota hai rang ko lekar isu Karna
  • N*****
    Ha
  • N*****
    Yes
  • R*****
    Yes
  • U*****
    Never the most important thing is nature of people
  • R*****
    Yes
  • N*****
    Yes
  • S*****
    Rally its true
  • S*****
    Yes
  • M*****
    Yes
  • A*****
    Your are absolutely correct ma'am
  • S*****
    Sahi kaha Vibha Trivedi ne
  • V*****
    Very wrong thought But Bitter truth.
  • R*****
    हां, क्योंकि यहां रंग और रूप को महत्व दिया जाता है ना कि गुणों को
  • L*****
    Your color doesn't matter your personality matters
  • A*****
    Bilkul nhi,kaale rang ke log ki Sahi hairstyle aur dressup krke Sundar dikh sakte h
  • P*****
    Nhi agar apme koi ek gun hai to bhi ap gunwan mani jayengi
  • S*****
    Pr ajkl gora hona bahri dikhavt ko hi imp deya jata h guno ko ni kyo
  • A*****
    Rang agar gora ho aur gun naho to kya matlab .Acha gun inshan ka pahachan hai
  • A*****
    Rang rup se kya milega agar aap k pass gun na ho to .App k chehere ko aap ka gun hi chamkata hai.Rang gora ho aur gun na ho to use palas k phul k tarah mana jata hai .palash k phul dekhne me bht sundar dikhta hai .lekin wo gandha hin hai ..
  • H*****
    Lekin ye sb kitaabi baate h zadatar log gore ko hi achcha mante h tabhi to gore hone ki
  • N*****
    Ye jaruri nahi he Maan saaf hona chahiye
  • K*****
    Nahi
  • K*****
    Nhi
  • K*****
    No
  • A*****
    Nhi gora hona hi sundarta nhi hai jidka man sundar vo sbse sundar
  • L*****
    Mera ak hi line h hamari marwadi me kahavat h ki roop ki rove karm ki khave. Gora hona skin ka hi nahi h saath man vichar sabhi importants h.ok
  • R*****
    Desh ka to pta ni lekin kya apko pta h ki duniya ki sabse sundar ldki ka khitab jitne wali ldki dusky h ....a/c to me insan ka talent mayne rakha h clr code ni ...(ek ache swbhav ka bdsurt vyakti b sundr or ek gande swbhav ka vyakti sundr hone k bd b hin hota h). .mere hisab se just be uhh...nd u have to proud of it...
  • R*****
    Bilkul bi nhi
  • R*****
    No it's not ture
  • J*****
    ya u r right
  • N*****
    Sach me
  • S*****
    Very true
  • R*****
    wrong sundarta talent s hoti h.
  • U*****
    Exactly true..i agree.. This notion exists today also in society..which is totally wrong.. Complexion has nothing to do with skills & capability. There have been many instances that have proved this notion wrong.. In my views.. A person should not be judged by his or her complexion rather its the skills & capability that defines a person
  • K*****
    I think aise soch rakhne walo ko peeche chodke hame apne appko smart confident and independent ban na chahiye then automatically society will follow you irrespective of colour# we should be proud of our complexion.# M proud to have dark complexion 🤗
  • S*****
    Hnn.. Aisa hai, aj bhi log khastaur pe ladkiyo ko, chahe vo kitni bhi talented q na ho. Ye bol k reject kar dete hai ki iska rang bht sawla hai.kch log hi milenge jo ki aisa nhi sochte. Sawle ya kale rang ko logo ne mazak bana diya hai....fair n lovely k advertisement me dikhaya gaya tha ki, ladki interview k liye jati h, but use hata diya jata hai.to vo door ka sheesha saaf krti hai. Interviewer use job de dete h ye dekhne k baad ki vo gori hai...
  • S*****
    True. ...hmari society me aaj bhi gora rang hi importance rakhta h...but ye zaruri nai h ki sbki soch yesi h aaj ke tym me inner beauty ko bhi importance dete h kuch log..ye bt or h ki yese bahut kam log h....
  • P*****
    Ya it's true..jo gora h usi Ko Sundar mante h log ..
  • R*****
    Yes this is the bitter truth
  • S*****
    yes but we have the solution for fairer going skin
  • P*****
    But it still matters. Jo actually me dark he usse Ye sawal pucho. Aapko original answers milenge.,baki Sab to sirf baate he
  • P*****
    No
  • I*****
    Amazing and true but I seriously admire Nandita Das
  • N*****
    Absolutely right... Physical beauty is not true beauty.. Spiritual beauty is true beauty..