1528707645fb_img_1447777721276
Kanika Gautam
1 May 2019 . 1 min read

पिंकी ने कई शीरोज को दिया सपनों को पूरा करने का हौसला


Share the Article :

kaise pinky ne diya sapno ko chune ka hausla kaise pinky ne diya sapno ko chune ka hausla

जब मैंने शीरोज एप पर पिंकी बजाज के बारे में पढ़ा तो मैं पिंकी के हौसले से आश्चर्यचकित हो गई। पिंकी का हौसला काबिले तारीफ है, और उनकी शख़्सियत लाजवाब भी। खुद से प्यार करने वाली और अपने लेखन को हर कदम ऊंचाई पर ले जाने को प्रतिबद्ध पिंकी एक एमबीए हैं। उनकी कहानी, उनके फैसले, उनके कार्य और उनका दृढ़ संकल्प महिलाओं के लिए प्रेरणा बनकर उभरे है| पिंकी जैसी साधारण लड़की ने मानदंडों के विपरीत जाने का विकल्प चुना, उसके उदाहरण के बाद कई शीरोज समान रास्ते पर चल रही हैं|

राजस्थान के एक सिंधी परिवार से ताल्लुक रखने वाली पिंकी को जीवन में दूसरा नया मौका तब मिला, जब उन्हें अपने लेखन के प्रति प्यार को समझने और उसे परखने का मौका मिला। पिंकी अपने पुराने दिनों को याद करते हुए बताती हैं, मैं अपने जीवन के सबसे बुरे अनुभव को लेकर आज भी सिहर जाती हूं।

pinky bajaj profile image

मेरे लिए अरेंज मैरिज के तहत एक प्रपोजल आया था। मैंने बस अपना एमबीए ही पूरा किया था। मेरा मन था कि मैं नौकरी करूं और उसके बाद ही शादी की ओर कदम बढ़ाऊं। लेकिन राजस्थान के मेरे परंपरागत सिंधी परिवार ने निर्णय ले लिया था कि मेरी उम्र शादी के लायक हो गई है। हालांकि मैं शादी के लिए बिल्कुल भी मानसिक तौर पर तैयार नहीं थी लेकिन मैं चुपचाप उनकी बात मान ली थी। वह पहला परिवार था, जो मुझे देखने आया था। देखने नहीं बल्कि मुझसे सवाल- जवाब पूछने आया था। मुझे लग ही नहीं रहा था कि वे लोग शादी के लिए आए हैं।

मैं उस मेल- मिलाप को आज भी नहीं भूल पाती हूं, बताती हैं पिंकी। पिंकी आगे कहती हैं, मुझे मेरे गोरे रंग के लिए दोषी ठहराया गया। उन्हें लगा कि मैं मेकअप करके आई हूं, इसलिए मुझे बार- बार मेरे चेहरे को धोकर आने के लिए कहा गया।

pinky with mother

मैंने वैसा ही किया, इस दौरान मेरा परिवार यह सब देख रहा था लेकिन किसी ने कोई आपत्ति नहीं जताई। चेहरा धोने के क्रम में एक बार तो उनके परिवार से कोई बाथरूम के अंदर तक भी गया कि कहीं मैं झूठ तो नहीं बोल रही। उसके बाद उन्होंने माना कि मेरे गर्दन, चेहरे और हाथों का रंग एक समान है। मेरे लिए यह मानसिक प्रताड़ना ही थी कि उनमें से एक ने मेरे दुपट्टे को हल्का सरकाकर मेरी त्वचा का रंग भी देखा। उसके बाद तो मुझसे अजीबोगरीब सवाल पूछे गए। इस मेल- मिलाप के बाद मैं बुरी तरह से हिल गई थी। मेरा आधा आत्मविश्वास गायब हो चुका था। मुझे लगने लगा था कि मेरे एमबीए करने का क्या कोई फायदा भी है!

ह्यूमन रिसोर्स और मार्केटिंग में एमबीए पिंकी कहती हैं कि उसके बाद मैंने अपने परिवार को फटकार लगाई क्योंकि मैं जानती थी कि एक हद तक वे मेरे साथ थे।

मैं एडवांस्ड स्टडीज करना चाहती थी। मेरे पापा मुझे सबसे ज्यादा प्यार करते हैं। हालांकि, उन्होंने उस अजीबोगरीब परिवार के सामने कुछ नहीं बोला था लेकिन उस सवाल- जवाब के क्रम के बाद वह मेरे और मेरे द्वारा लिए गए निर्णय में मेरे साथ खड़े होते थे।

पिंकी ने इस बुरे अनुभव के बाद शादी का मन बनाने में सात साल लगाए। और उनका कहना है कि मेरे उस निर्णय से मेरे परिवार की अन्य लड़कियों को भी अपनी मर्जी से जीवन जीने का हौसला मिला है। मेरे माता- पिता ने खुद ही कहना शुरू कर दिया कि पढ़ाई पूरी करके अपना करियर बनाओ। मेरे चचेरी बहनें ने मेरे कदमों पर चलना शुरू किया और उन्हें अपनी मनमर्जी का करियर बनाने की छूट मिली, गर्व से बताती हैं पिंकी।

पिंकी का जीवन संतुष्टि से चल रहा था लेकिन उनके साथ हुई एक बड़ी दुर्घटना ने उनके हौसले को फिर से पस्त करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। डॉक्टरों ने कह दिया था कि यदि इंफेक्शन कम नहीं हुआ तो पैर काटने पड़ सकते हैं।

pinky bajaj poem

पिंकी कहती हैं, उन मुश्किल के क्षणों में मेरी मां ने बड़ी मजबूती से मेरा साथ दिया। वह इंफेक्शन तो ठीक हो गया लेकिन अपने पीछे अपने बुरे अनुभव जरूर छोड़ गया। इन सारे नकारात्मक पलों को हरा कर पिंकी यहां भी विजेता बनीं, इसमें उनकी मां ने उनका एक पल भी साथ नहीं छोड़ा।

pinky bajaj blog

जल्दी ही पिंकी को उनकी मनमर्जी का लड़का मिला। अब उनके जीवन में सब कुछ ठीक चल रहा था, तभी असामान्य परिस्थितियों में उनकी मां की मृत्यु हो गई। पिंकी दुखी होकर कहती हैं, मैंने बस मातृत्व के क्षणों में प्रवेश ही किया था, मुझे मां बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ ही था कि मुझे मेरी मां छोड़ कर चली गई। 15 जुलाई 2016 को मैं मां बनी और उस समय भी मुझे मेरी अपनी मां की जरूरत थी। लेकिन 21 नवंबर 2016 को आग लगने की एक दुर्घटना में मेरी मां मुझे अकेली छोड़ चली गई। मैं डिप्रेशन के गोते में डूब रही थी, लेकिन उस दौरान मेरे पति ने मेरी मां की भूमिका निभाई। मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकती कि उन्होंने उस बुरे दौर में मेरी कितनी मदद की। अगर वह उस समय मेरा साथ नहीं देते तो मेरा डिप्रेशन से बाहर निकलना संभव नहीं था।

pinky bajaj won mug

फिलहाल एक शिक्षक के तौर पर काम कर रही पिंकी कहती हैं कि शीरोज ने उनके जीवन में बेहतरीन बदलाव लाया है। वह कहती हैं, मैं जिस दौर से गुजर रही थी, मुझे ऐसा कुछ चाहिए था कि मैं खुद को व्यस्त रख सकूं। तभी मेरी करीबी दोस्त नीलू टूटेजा ने मुझे शीरोज एप डाउनलोड करने को कहा।

मैंने नीलू को स्पष्ट तौर पर कह दिया था कि मैं ऑनलाइन गेम्स खेलने के मूड में नहीं हूं। नीलू ने तब जिद की कि यही वह जगह है, जहां मुझे अभी होना चाहिए। मैंने उसकी जिद के आगे घुटने टेक दिए और शीरोज एप को डाउनलोड कर लिया।

मैंने उस एप को देखा और जाना कि वह दुनिया कितनी खूबसूरत है, जहां हर महिला एक - दूसरे का हाथ थामे एक - दूसरे का सहयोग कर रही है, अपनी कहानी बांट रही है, एक - दूसरे से सीख रही हैं। आज मैं शीरोज एप को धन्यवाद देती हूं, जिसकी वजह से मैं एक मजबूत महिला के तौर पर उभर कर सामने आई हूं।

ढाई साल की प्यारी सी बिटिया की मां पिंकी बजाज आज के दिनों में शीरोज एप की सबसे व्यस्त मेंबर हैं, जहां वह कविताएं लिखने के साथ ही अपने ब्लॉग भी शेयर करती हैं।

पिंकी हंसते हुए कहती हैं, मैं 12 साल की उम्र से कविताएं लिखती आई हूं लेकिन कभी यह नहीं सोचा कि इन्हें दूसरों को पढ़ाऊं। शायद मैं लोगों की प्रतिक्रिया से डरती थी।

शीरोज एप के एस्पायरिंग राइटर्स कम्यूनिटी ने मुझे प्रेरित किया कि मैं बेहतर लिख कर उसे दूसरों को पढ़ाऊं।

लेकिन सबसे बड़ी प्रेरणा मुझे शाइनी होक मैडम से मिली, जिन्होंने मेरे लेखन को सराहा और तुरंत कहा कि मुझे अपना ब्लॉग शुरू करना चाहिए। तभी से एक नई लेखक पिंकी एक कवि और बाद में एक ब्लॉगर बन गई।

pinky bajaj with husband and daughter

खिलखिलाते हुए गर्व से पिंकी आगे कहती हैं, मेरे जीवन में शीरोज आशा, उम्मीद, विश्वास और ऊर्जा की किरण के तौर पर आया है। मैंने कई प्रतियोगिताओं में भाग लिया है और जीता भी है। उनमें से एक ने मुझे शीरोज मग भी दिलवाया है। मैं ही वह पहली सदस्य थी, जिसे एस्पायरिंग राइटर्स कम्यूनिटी में क्विज कराने का मौका मिला।

शादी के लिए अजीबोगरीब सवाल का सामना करने वाली पिंकी ने बहुत लंबा सफर तय किया और आज इस मुकाम पर पहुंची हैं। तो अपनी बिटिया के लिए उन्होंने क्या सोच रखा है? इस सवाल का जवाब पिंकी मुस्कुराते हुए देती हैं, कुछ भी नहीं! मैं चाहती हूं कि वह अपनी मर्जी से अपने जीवन को जिए। मैं कभी भी उसे यह नहीं कहूंगी कि तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। बल्कि मैं उसे बताऊंगी कि कुछ चीजें तुम्हें इसलिए नहीं करनी चाहिए क्योंकि वे तुम्हें हानि पहुंचा सकती हैं। मैं उसे आगे बढ़ने दूंगी। बाकी तो समय ही निर्णय लेगा, अभी वह बहुत छोटी है तो मैं उस पर अपना कोई निर्णय कभी नहीं थोपूंगी।

शीरोज के लिए पिंकी क्या संदेश देना चाहती हैं, इस सवाल के जवाब में पिंकी कहती हैं, कभी भी अपने सपनों के साथ समझौता नहीं करना चाहिए। हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित होना चाहिए और अपने आस-पास अपनी रोशनी को बिखेरते रहना चाहिए। अपनी बात को सामने रखने में हिचकना नहीं चाहिए। इस सबसे बड़ी बात यह है कि कभी भी बिना कोशिश किए हारना नहीं चाहिए।

यदि पिंकी बजाज की यात्रा ने आपको भी प्रेरित किया है तो कृपया इसे शेयर करें और कमेंट सेक्शन में उनके लिए प्यार जरूर छोड़ें। आप पिंकी को शीरोज पर फॉलो कर सकते हैं।

इस लेख के बारे में कुछ ज़रूरी बातें​ -

पिंकी बजाज का इंटरव्यू, पुरस्कार विजेता और स्वतंत्र पत्रकार महिमा शर्मा द्वारा किया गया था । यह लेख केवल उनके अंग्रेजी लेख का हिंदी अनुवाद है ।

आप यहाँ पर पिंकी बजाज का अंग्रेजी लेख पढ़ सकती​ हैं |


15567099611556709961
Kanika Gautam
An ardent writer, a serial blogger and an obsessive momblogger. A writer by day and a reader by night - My friends describe me as a nocturnal bibliophile. You can find more about me on yourmotivationguru.com

Explore more on SHEROES

Share the Article :

Responses

  • M*****
    Givan me Aage bthane ke liye Aatmvishvas hona jaruri he vo Aapme he me Aapko selut karti hu
  • P*****
    Thank you so much ladies for so much of love....:)
  • A*****
    Very inspiring for our daughters
  • S*****
    Pinki ji ki tarah har ek ko aise hi hona chahiye
  • S*****
    Bahut sahi baat kabhi bhi apni ummido Ko Kam nahi karna chahiye balki hamesa aage badna cahiye
  • T*****
    बहुत कम खुशनसीबों को ऐसा मौका़ मिलता है।
  • M*****
    Welldone
  • R*****
    दिल को छुआ !आपकी स्टोरी सुनकर ,महसुस हो रहा है कि, मै भी अपनी आत्मकथा लिखकर लोंगो के लिये प्रेरणा बन सकती हूँ ।
  • S*****
    I have liked her story.
  • M*****
    Aap bahut hi brave, inteligent person ho,Aap to waqt se hi nahi lari,Balki Aap ne Apne liye stand bhi liya,phir bhi Aap lucky ho jise family ka support mila, her koi itna lucky nahi hota.U are hard working person.
  • P*****
    Thank you so much Beautiful ladies...ap sab se itna pyaar milega Maine kbhi nhi Socha tha...sabka bhut bhut dhanyawaad.... ♥️♥️♥️♥️♥️♥️Lots of love ...
  • S*****
    Madam mai bhi ek muskil dour divorce se gujar rhi hu. Aur bus kuch aisa krna chahti hu jo mujhe accha LGE. Honour mile. Sasural wale bhut khrab h. Vha do ldke aur ab dono tlaqsuda. Hm bhuoo ko sas character less btati h
  • N*****
    NicE
  • M*****
    बहोत अच्छा पिंकी. अब तो तुम बहोत आगे बढ चुकी हो काबीले तारीफ है आपको बहोत सारी शुभकामनाए.
  • G*****
    Good pinky ji..
  • D*****
    Life is not perfect and simple anybody Life is not perfect and simple anybody
  • M*****
    बहोत ही संघर्ष वाली जिदगी गुजरी है पिंकी जी आप ने लेकिन हिम्मत नही हारी बहोत अच्छा लगा आप का आर्टिकल पड़ कर हमारी जिंदगी में दो लोगो की एहम भूमिका होती है ! एक तो माता पिता और दूसरा लाइफ पार्टनर ये दो लोग हमारी लाइफ में हमारे मुश्किल समय मे साथ है तो हम जिंदगी की हर जंग जीत सकते है!
  • N*****
    Bahut khoob.
  • K*****
    Very good
  • A*****
    Congratulations
  • R*****
    Congratulations
  • Z*****
    Good didi apki inspiration ko mera salam
  • L*****
    Girls ko aise he brave hona chahye
  • R*****
    Bahut sunder... Really y doosri ladies k liye inspire story hai
  • U*****
    Aapki story bhut achi aur prernadayk h Hme life m age bdhne ki sikh deti h
  • R*****
    Bhut hi achhi lgi aapki khani
  • P*****
    Thank you thank you so much everyone ...it really means alot...thank you :)
  • A*****
    Really..... You very talented n u r very beautiful ladi .....sooo I wise u very very life....
  • S*****
    Inspired frm your story.. Really u r very brave n courageous... Good luck for u r future..
  • U*****
    Best wishes Pinki!!
  • P*****
    It's very Inspiring story. Hats off to your courage Pinky! Bravo!
  • S*****
    Pinki ji u r very brave and talented...kitne bhi tu karle sitam tutenge kbhi na ham
  • R*****
    Bas itna hi shabash,bahut khub
  • N*****
    Congrats dear ...aur sahi baat hai duniya kitni aage bedh jaaye hum female ki kitni bhi study kyu na kr le but hum sabhi ki feeling ke saath kabhi na kabhi koi na koi khelta hi hai chahe kisi rishtey se khele...aur tb jb hamare apne hi na samjhe aaj bhi ladies ke hamare self respect ko samjhaane wale km hai .... Aapke housle ki hum kedr karte hai.....aur request Kerte hai ki aapke saamne kabhi koi female esi ho jise aapki jaroorat ho to plz uski help jaroor kijiyega ...kyuki aapko experience hai in situations ka.....aur sabhi ke paas aap jaisi himmat nhi hoti ...🙏
  • M*****
    Pinki ji ko Meri Orr se Badhai app ka lekh bahut acha laga har mahila ko pinki ji ki tarah hona chahiye
  • D*****
    Pinky Bajaj ,you are a rockstar dear ❤️❤️❤️💕😘😘🤗🤗🌹
  • S*****
    Pinky ji aap bahut brave ho ...Very gud
  • V*****
    Aap sabhi ladies ke liye inspiration ho , hame khud ko Kabhi kamjoor aur lachaar aur bebas Nahi samjhna chahiye.positive mind aur positive thoughts ke Saath aage badhna chaiye.weldone !
  • M*****
    Well done pinki ji ....
  • V*****
    क्या बात है, हर लड़की को इससे सबक लेना चाहिए कि वो कोई सजावट का सामान नही बल्कि इंसान है।अगर कोई उनके साथ ऐसा कुछ करटक है तो उन्हें भी लड़कों के साथ वैसा ही करना चाहिए। अपने माँ बाप की माननी चाहिए पर एक हद तक। उन्हें समझाना होगा कि बेटी हैं हम कोई बिकाऊ या पेश करने जैसी वस्तु नही। good पिंकी जी।👏👏👏
  • J*****
    Pinky ji aap hum ladies k liye prerana h
  • P*****
    👌👌🙏🙏
  • S*****
    Hii Nice Aapko Ko to likhna aata h jisko kuch bhi nahi aata ho vo kya kare please bataye Mere Parivar m sabki soch achchi h pr sasural m Aisa kuch nahi h Please help me
  • P*****
    Thank you ladies...I was not aware of this article..thank you so much @Kanika Gautam mam...thank you Meri baat Jo sabtk pahuchane k liye :)
  • D*****
    Pinky aap ham mesha khuhs raho God ham mesha aap ke sah hi
  • A*****
    Hi pinki how r u mene aapki story padhi ur mi aapse aspki understanding s kaafi inspeier Hui hu..👌
  • R*****
    V nice, keep it up
  • A*****
    Wery good bhut bdiya khus rho hmesa
  • S*****
    Nice dear